blogid : 11280 postid : 362

कौन कहता है कि बाप-दादाओं का नाम चाहिए !!

Posted On: 8 Feb, 2013 मस्ती मालगाड़ी में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

आज तक आपने उन लोगों के बारे में तो सुना होगा जिनकी कामयाबी के पीछे उनके बाप-दादाओं का नाम होता है पर क्या आप ऐसे सितारों को जानते हैं जिनके पास उनके बाप-दादाओं का नाम था पर फिर भी उन्हें हमेशा ही हार का सामना करना पड़ा. बॉलीवुड ऐसी इंडस्ट्री है, जहां सफलता की बुलंदियों पर पहुंचने के लिए बाप-दादाओं के नाम का  सहारा काफी नहीं है. यदि आपके अभिनय में दम नहीं है तो बहुत जल्द ही आपको बॉलीवुड की दुनिया से बाहर का रास्ता देखना पड़ जाता है. बॉलीवुड की दुनिया में एक और चीज है जो बाप-दादाओं के नाम से ज्यादा अहमियत रखती हैं वो है किस्मत. यदि आपकी किस्मत बहुत अच्छी नहीं है तो आपको सुपरस्टार बनने में समय लग सकता है या फिर यह भी हो सकता है कि आप कभी भी फ़िल्म इंडस्ट्री में सुपरस्टार बन ही ना पाएं.

Read:रोमांस के लिए बारिश की नहीं मानसून की जरूरत



mala sinha daughterमाला सिन्हा की बेटी भी बॉलीवुड से निराश रहीं

माला सिन्हा को बॉलीवुड की सुपरहिट अभिनेत्री माना जाता है पर उनकी बेटी प्रतिभा सिन्हा पर्दे पर अपना जादू चला नहीं पाईं. मशहूर अभिनेत्री माला सिन्हा की बेटी प्रतिभा सिन्हा ने बॉलीवुड की कुछ फिल्मों में बस सपोर्टिंग रोल्स ही किए और उन सपोर्टिंग रोल्स में भी वो कोई ख़ास छाप बॉलीवुड पर नहीं छोड़ पाईं.


राज कपूर के बेटे राजीव कपूर का जादू भी नहीं चला

बॉलीवुड में एक समय ऐसा था जब राज कपूर का नाम मशहूर अभिनेताओं में लिया जाता था पर उनके बेटे सुपरस्टार बनना तो दूर की बात है वो बॉलीवुड के लिए स्टार भी ना बन सके. राजीव कपूर ने 13 फिल्मों में काम किया लेकिन उन सभी फिल्मों में एक ही फ़िल्म हिट हो सकी.   सन् 1985 में रिलीज हुई फ़िल्म ’राम तेरी गंगा मैली’ राजीव कपूर की हिट फ़िल्म थी.

Read:सस्पेंस के दीवाने आमिर खान


राज बब्बर की बेटी जूही बब्बर भी फ्लॉप

राज बब्बर की बेटी जूही बब्बर फिल्म ‘काश आप हमारे होते’ में सोनू निगम के साथ दिखाई दी थीं और यह फिल्म उनकी पहली और आखिरी फिल्म थी. राज बब्बर की बेटी जूही बब्बर का ही यह हाल नहीं हैं मशहूर अभिनेता अमजद खान के बेटे शादाब खान साल 1997 में रिलीज फिल्म ‘राजा की आएगी बारात’ में रानी मुखर्जी के साथ दिखाई दिए थे. फ़िल्म  ‘राजा की आएगी बारात’ कुछ खास सुपरहिट नहीं हो सकी और ना ही इस फ़िल्म के साथ शादाब खान की किस्मत खुल सकी. दिवंगत फिल्म स्टार राजेंद्र कुमार के बेटे कुमार गौरव ने सन् 1981 में फिल्म ‘लव स्टोरी’ से डेब्यू किया था पर कुमार गौरव को भी बॉलीवुड की दुनिया से खाली हाथ ही लौटना पडा. सच यही है कि बॉलीवुड की दुनिया में अपने बाप-दादाओं के नाम के सहारे एंट्री तो ली जा सकती है पर किस्मत नहीं चमकाई जा सकती है.

Read:फिगर है तो पढ़ाई की क्या जरूरत ?

जब प्यार किया तो डरना क्या ?


Tags:  bollywood family, bollywood daughters, bollywood flop actress, top 10 flop bollywood actresses, Raj Babbar, बॉलीवुड , बॉलीवुड मस्ती, राज बब्बर



Tags:                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

2 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

REKHA के द्वारा
February 8, 2013

सुन्दर लेख

archna के द्वारा
February 8, 2013

नहीं ऐसा है बाप-दादाओं के नाम की जरूरत होती हैं !!


topic of the week



latest from jagran