blogid : 11280 postid : 64

RIP Kaka : बॉलिवुड के पहले सुपरस्टार के जीवन से जुड़े कुछ अनछुए पहलू !!

Posted On: 18 Jul, 2012 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

rajesh

Profile of Rajesh Khanna

एक जमाना था जब फिल्म अभिनेता राजेश खन्ना अपनी डायलॉग डिलिवरी और उम्दा अदाकारी के बल पर हर वर्ग के लोगों को आकर्षित किया करते थे. यह वह दौर था जब उनसे आधी उम्र की लड़कियां भी उन्हें देखकर आहें भरती थीं और उनकी एक झलक पाने के लिए कुछ भी कर गुजरने का दम रखती थीं. फिर भी तमाम महिला प्रशंसकों का दिल तोड़ते हुए राजेश खन्ना ने डिंपल कपाडिया को अपना दिल दे दिया और वर्ष 1973 में उनसे विवाह कर लिया. लेकिन राजेश खन्ना के स्वभाव और शराब की लत के कारण विवाह के कुछ समय बाद यानि 1984 में ही डिंपल और राजेश खन्ना का तलाक हो गया था. हालांकि तलाक के बाद भी डिंपल कपाडिया हर मुश्किल में राजेश खन्ना के साथ रहकर उन्हें भावनात्मक समर्थन देती रही हैं. राजेश और डिंपल की दो बेटियां, ट्विंकल और रिंकी हैं. राजेश खन्ना उन अभिनेताओं में से हैं जो कॅरियर के लिहाज से तो टॉप पर थे लेकिन अपने निजी और पारिवारिक जीवन में चल रहे तनाव को कभी कम नहीं कर पाए. इस लेख में हम आपको राजेश खन्ना के व्यक्तिगत जीवन से जुड़े कुछ ऐसे पहलुओं से रूबरू करवाएंगे जिनके बारे में बहुत से लोग नहीं जानते.

Life of Rajesh Khanna


राजेश खन्ना – कुछ अनछुए पहलू

एक टैलेंट हंट का विजेता बनने के साथ ही राजेश खन्ना ने बॉलिवुड में प्रदार्पण किया. वर्ष 1965 में यूनाइटेड प्रोड्यूसर्स और फिल्मफेयर ने एक नए चेहरे की तलाश में एक टैलेंट हंट अभियान चलाया जिसमें दस हजार लड़कों ने भाग लिया. राजेश खन्ना उन्हीं दस हजार लड़कों में से एक थे जिन्होंने टॉप आठ लड़कों में अपने लिए स्थान सुरक्षित किया. अंत में राजेश खन्ना इस टैलेंट हंट के विजेता बने. जीतने के बाद सबसे पहले राजेश खन्ना ने रमेश सिप्पी की फिल्म राज के लिए साइन किया. लेकिन उनकी पहली प्रदर्शित फिल्म आखिरी खत है, जो 1976 में रिलीज हुई थी. 1969 में रिलीज हुई आराधना और दो रास्ते के बाद उन्हें सुपरस्टार घोषित कर दिया गया. स्टूडियो या किसी निर्माता के ऑफिस के बाहर जब भी राजेश खन्ना की सफेद रंग की गाड़ी रुकती तो लड़कियां उस कार को ही चूम-चूम कर गुलाबी बना देती थीं.


oldरोमानी जीवन के शौकीन राजेश खन्ना

राजेश खन्ना के जीवन में कई लड़कियां आईं जिनमें अंजू महेंद्रू का नाम प्रमुखता के साथ शामिल है. कॅरियर के शुरुआती दौर में ही राजेश खन्ना और अंजू महेंद्रू निकट आ गए थे. आठ-नौ वर्ष तक एक-दूसरे के साथ रहने के बाद दोनों अलग हो गए. उनके अलगाव का कारण भी राजेश खन्ना का स्वभाव ही था. अंजू, राजेश खन्ना की सबसे बड़ी आलोचक थीं और राजेश को अपनी आलोचना बिलकुल पसंद नहीं थी. राजेश को अल्ट्रा मॉडर्न लड़कियां आकर्षित करती थीं पर जब अंजू मॉडर्न कपड़े पहनतीं तो राजेश उन्हें साड़ी पहनने के लिए कहते और जब वह साड़ी पहनतीं तो राजेश उन्हें मॉडर्न कपड़े पहनने के लिए कहते. अंजू कहां रहती हैं किससे मिलती हैं यह सब राजेश खन्ना को जानना होता था. अंजू से संबंध टूटने के बाद राजेश खन्ना ने 1973 में डिंपल कपाड़िया से विवाह कर लिया था.


डिंपल कपाडिया से शादी और अलगाव

राजेश खन्ना से पहले डिंपल कपाड़िया का नाम ऋषि कपूर के साथ भी जुड़ा था. उम्र में एक बड़ा अंतर होने के बावजूद डिंपल ने राजेश खन्ना के साथ विवाह कर लिया था. इस विवाह में फिल्म इंडस्ट्री के बड़े-बड़े लोग शामिल हुए. बस ऋषि और अंजू इस विवाह से नदारद रहे. राजेश खन्ना ने डिंपल से पहले प्रेम और फिर विवाह किया लेकिन फिर भी वह उन्हें कभी अपने साथ बांध कर नहीं रख पाए. उनके स्‍वभाव की वजह से डिम्‍पल ने आखिरकार खुद को उनकी जिंदगी से बाहर कर लिया.


डिंपल कपाड़िया और अंजू महेंद्रू के अलावा राजेश खन्ना का नाम टीना मुनीम के साथ भी जोड़ा जाता था. दोनों काफी समय तक लिव-इन रिलेशनशिप में भी रहे थे.


ऐसा कहा जाता है कि पाइल्स के ऑपरेशन के लिए एक बार राजेश खन्ना को अस्पताल में भर्ती होना पड़ा था. उनके इर्द-गिर्द जितने भी कमरे थे वह निर्माताओं ने बुक करवा लिए थे ताकि मौका मिलते ही वह राजेश खन्ना को अपनी फिल्म की कहानी सुना सकें. राजेश खन्ना द्वारा चार साल में लगातार 15 सुपर हिट फिल्में देना आज भी बॉलीवुड में एक रिकॉर्ड है. उन्हें हिंदी सिनेमा का पहला सुपर स्टार कहा जाता है. फिल्म इंडस्ट्री में राजेश खन्ना को प्यार से ‘काका’ भी कहा जाता है. जब वे सुपरस्टार थे तब यह कहावत बड़ी मशहूर थी कि ऊपर आका और नीचे काका.




Tags:                         

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

4 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

drtksinha के द्वारा
July 19, 2012

भूजल के बढ़ते हुये मांग और खपत का कारण भूजल रतर नीचे जा रहा है। वषॅा जल को तकनीकी साधनों से जमीन के भीतर ङालकर भूजल को बढ़ाया जा सकता है। भूजल को बरबाद न होने दें,जल संरक्षण में ही जीवन सुरक्षित है। अतः वषॅा जल संचयन कर भूजल संरक्षित करें। ङा. टी. के. सिनहा, भूजल वैज्ञानिक

drtksinha के द्वारा
July 19, 2012

भूजल के बढ़ते हुये मांग और खपत का कारण भूजल रतर नीचे जा रहा है।                                                 वषॅा  जल को तकनीकी साधनों से जमीन के भीतर ङालकर भूजल को बढ़ाया जा सकता है।                          भूजल को बरबाद न होने दें,जल संरक्षण में ही जीवन सुरक्षित है।अतः वषॅा जल संचयन कर भूजल संरक्षित करें।                                                                  ङा. टी. के. सिनहा,  भूजल वैज्ञानिक

vikas varshney के द्वारा
July 19, 2012

पंचतत्व में विलीन ‘आनंद’. अक्षय-ट्विंकल के बेटे आरव ने राजेश खन्ना को दी मुखाग्नि.आइये उनकी आत्मा की शांति के लिए हमसब प्रार्थना करें!

drtksinha के द्वारा
July 18, 2012

ये ज़मीन की फितरत है की वह पानी को अपने भीतर समा लेती है , वर्ना भूजल बन ही नहीं पाता और फिर हम साफ जल के लिए तरसते ……… फिर् उन गालीबों की कैसे नवाबी चलती जो केवल बोतल का पानी पीते हैं। भूजल को बरबाद न करें और न ही दूषित होने दें, इसे बचायें । ङा. टी. के. सिनहा , भूजल वैज्ञानिक


topic of the week



latest from jagran